ब्लॉग प्रसारण पर आप सभी का हार्दिक स्वागत है !!!!

वैसे तो इस तरह के तमाम ब्लॉग उपलब्ध हैं जिनमें से कुछ काफी प्रसिद्ध हैं. इस ब्लॉग को शुरू करने का हमारा उद्देश्य कम फोलोवर्स से जूझ रहे ब्लॉग्स का प्रचार करना एवं वे लोग जो ब्लॉग बनाना चाहते हैं परन्तु अज्ञान वश बना नहीं पाते या फिर अपने ब्लॉग का रूप, रंग ढंग नहीं बदल पाते उनकी समस्या का समाधान करना भी है. परन्तु यदि नए ब्लॉग नवीनीकरण (अर्थात update ) नहीं होंगे उनके लिंक नहीं लगाये जायेंगे उनकी जगह अन्य लिनक्स को स्थान दिया जायेगा. साथ ही साथ प्रतिदिन एक या दो विशेष रचना "विशेष रचना कोना' पर प्रस्तुत की जायेंगी और "परिचय कोना" पर परिचय भी दिया जायेगा. ब्लॉग में किसी भी तरह की समस्या को इस पते पर लिख भेजें : blogprasaran@gmail.com समाधान हेतु यथासंभव प्रयास किया जायेगा....

नोट : सभी ब्लॉग प्रसारण कर्ता मित्रों से अनुरोध है कि वे अपने पसंद के सीमित लिंक्स अर्थात अधिकतम (10-15) ही लिंक्स लगायें ताकि सभी लिंक्स पर पहुंचा जा सके.


मित्र - मंडली

पृष्ठ

ब्लॉग प्रसारण परिवार में आप सभी का ह्रदयतल से स्वागत एवं अभिनन्दन


Thursday, July 25, 2013

ब्लॉग प्रसारण :अंक 66,सावन के बहारों के साथ


नमस्कार मित्रों,
आज के इस ६६  वें अंक में आप सभी का मैं राजेंद्र कुमार आपका हार्दिक स्वागत करता हूँ। आज के प्रसारण में मैं अपनी पसंद के कुछ चुनिंदा लिंक्स लेकर आपके समक्ष उपस्थित हुआ हूं।आशा है आप सब पहले की ही तरह अपना स्नेह बनाये रखेंगे,तो आइये एक नजर डालते है आज के प्रसारण की तरफ...


आकांक्षा यादव







मुंकिर

नाज़ ओ अदा पे मेरे, न कुछ दाद दीजिए ,

मत हीरे मोतियों से, मुझे लाद दीजिए ,

हाँ इक महा पुरुष की है, धरती को आरज़ू ,

मेरे हमल को ऐसी इक औलाद दीजिए
सुषमा वर्मा
इन शब्दों को क्या कहूँ...
कभी खुद के लिखे शब्द जख्म दे जाते है...
जो हम कहते नही खुद से,
वो सब कुछ ये शब्द कह जाते है..

दुर्मर-दामिनि देह, दुधमुहाँ-दानव ताके

रविकर जी 

छोरा छलता छागिका, छद्म-रूप छलछंद |
नाबालिग *नाभील रति, जुवेनियल पाबन्द |

जुवेनियल पाबन्द, महीने चन्द बिता के |
दुर्मर-दामिनि देह, दुधमुहाँ-दानव ताके-

दीदी दादी बोल, भूज छाती पर होरा |
पा कानूनी झोल, छलेगा पुन: छिछोरा ||

निताक़त कानून और सऊदी अरब

डॉ आशुतोष शुक्ला

सऊदी अरब में स्थानीय निवासियों और कामगारों को काम देने के उद्देश्य से लागू किए गए निताक़त कानून से अब वहां पर के विकास और जन जीवन पर असर पड़ना शुरू हो गया है. इससे सबसे ज्यादा वहां के निर्माण उद्योग पर कुप्रभाव पड़ा है….

फ़िरदौस ख़ान
आज भी पूरे चांद की रात थी... हमेशा की तरह ख़ूबसूरत... इठलाती हुई

बोतल!

मुकेश कुमार सिन्हा

बोतल, बिसलरी या किसी अन्य मिनरल वाटर का
बोतल, बियर या शराब के अलग अलग ब्रांड का
बोतल, विटामिन टौनिक या जीवन रक्षक दवा का
पर बोतल, थे सारी के सारी खाली, एक दम खाली !!

New Coolnovo Browser latest version 

आमिर अली "दुबई"
डियर रीडर्स , जैसा की पहले भी मैंने कई इंटरनेट वेब ब्राउजर पोस्ट्स किये ,उन्ही की श्रंखला में आज आपकी खिदमत में पेश है एक और नया और बेहतरीन इंटरनेट वेब ब्राउजर , मेरी जानकारी के मुताबिक...

यादों के फूल


Dr.NISHA MAHARANA

जहाँ अपनापन रहता था कभी … 
वहाँ सूनापन बसने लगा है 
वसंत के डाल पे हो सवार … 
पतझड़ कमर कसने लगा है ….
************************************
इसी के के साथ आज का प्रसारण यहीं समाप्त करते हुए विदा चाहतें है,शुभ दिन की कामना।

16 comments:

  1. राजेंद्र कुमार जी !
    ब्लॉग प्रसारण का आपका अंदाज़ बहुत पसंद आया...
    सभी लिंक बहुत अच्छे हैं... अगर इनकी तादाद कुछ ज़्यादा होती, तो सोने पर सुहागा होता...
    शुभकामनाएं...

    ReplyDelete
    Replies
    1. आपको ब्लॉग प्रसारण पर आकर अच्छा लगा ,शुक्रिया
      लिंक इसलिए कम दिए जाते हैं ताकि आप सब तक पहुँच पाएं
      अगर और पढने की इच्छा हो तो आप हमारे किसी के भी ब्लॉग पर क्लिक कर पढ़ सकती हैं
      मुझे join करने के लिए यहाँ आएं
      http://guzarish6688.blogspot.in/
      शुक्रिया
      सादर
      सरिता भाटिया

      Delete
    2. आपको ब्लॉग प्रसारण पर आकर अच्छा लगा ,शुक्रिया
      लिंक इसलिए कम दिए जाते हैं ताकि आप सब तक पहुँच पाएं
      अगर और पढने की इच्छा हो तो आप हमारे किसी के भी ब्लॉग पर क्लिक कर पढ़ सकती हैं
      मुझे join करने के लिए यहाँ आएं
      गुज़ारिश
      शुक्रिया
      सादर
      सरिता भाटिया

      Delete
    3. धन्यबाद,ब्लॉग प्रसारण पर हार्दिक स्वागत है आपका,समयाभाव चलते अभी कम ही लिंक्स चयन हो पता है, आगे आपके परामर्श पर अवश्य देंगे।

      Delete
  2. सुन्दर सूत्रों की प्रस्तुति

    ReplyDelete
  3. नमस्कार राजेन्द्र जी ,
    बढ़िया सूत्र बधाई
    आज तो काफी दिन बाद आमिर भाई की पोस्ट देखने को मिली

    ReplyDelete
  4. सुन्दर सूत्र । धन्यवाद और आभार ….

    ReplyDelete
  5. सावन की बहारों के साथ
    यादों के फूल खिलते हैं
    कुछ और लिंक्स
    ब्लॉग प्रसारण पर सजते हैं |
    आशा

    ReplyDelete
  6. आदरणीय राजेंद्र भाई जी बहुत ही सुन्दर लिंक्स चुने हैं आपने आज के प्रसारण हेतु हार्दिक आभार आपका.

    ReplyDelete
  7. बहुत ही खुबसूरत लिनक्स दिए है आपने....मेरी रचना शामिल करने के लिए आभार.....

    ReplyDelete
  8. अंदाज अच्छा लगा ,चर्चा के लिंक्स कुछ बढ़ा लीजिये।

    ReplyDelete
  9. बहुत ही सुन्दर लिंक्स

    ReplyDelete
  10. सुन्दर सूत्र । धन्यवाद

    ReplyDelete
  11. राजेंद्र जी अच्छे लगे लिंक्स...

    ReplyDelete
  12. बेहतरीन लिंक्स, आभार.

    रामराम.

    ReplyDelete
  13. सुंदर लिंक्स, कुछ पर हो आये और भी देखेंगे ।

    ReplyDelete