ब्लॉग प्रसारण पर आप सभी का हार्दिक स्वागत है !!!!

वैसे तो इस तरह के तमाम ब्लॉग उपलब्ध हैं जिनमें से कुछ काफी प्रसिद्ध हैं. इस ब्लॉग को शुरू करने का हमारा उद्देश्य कम फोलोवर्स से जूझ रहे ब्लॉग्स का प्रचार करना एवं वे लोग जो ब्लॉग बनाना चाहते हैं परन्तु अज्ञान वश बना नहीं पाते या फिर अपने ब्लॉग का रूप, रंग ढंग नहीं बदल पाते उनकी समस्या का समाधान करना भी है. परन्तु यदि नए ब्लॉग नवीनीकरण (अर्थात update ) नहीं होंगे उनके लिंक नहीं लगाये जायेंगे उनकी जगह अन्य लिनक्स को स्थान दिया जायेगा. साथ ही साथ प्रतिदिन एक या दो विशेष रचना "विशेष रचना कोना' पर प्रस्तुत की जायेंगी और "परिचय कोना" पर परिचय भी दिया जायेगा. ब्लॉग में किसी भी तरह की समस्या को इस पते पर लिख भेजें : blogprasaran@gmail.com समाधान हेतु यथासंभव प्रयास किया जायेगा....

नोट : सभी ब्लॉग प्रसारण कर्ता मित्रों से अनुरोध है कि वे अपने पसंद के सीमित लिंक्स अर्थात अधिकतम (10-15) ही लिंक्स लगायें ताकि सभी लिंक्स पर पहुंचा जा सके.


मित्र - मंडली

पृष्ठ

ब्लॉग प्रसारण परिवार में आप सभी का ह्रदयतल से स्वागत एवं अभिनन्दन


Thursday, June 27, 2013

ब्लॉग प्रसारण : अंक 39

नमस्कार मित्रों,
आज के इस 39 वें अंक में आप सभी का मैं राजेंद्र कुमार आपका हार्दिक स्वागत करता हूँ। आज के प्रसारण में मैं अपनी पसंद के कुछ चुनिंदा लिंक्स लेकर आपके समक्ष उपस्थित हुआ हूं।आशा है आप सब पहले की ही तरह अपना स्नेह बनाये रखेंगे,तो आइये एक नजर डालते है आज के प्रसारण की तरफ...


कुछ अलग सा
आशा सक्सेना

इतने बड़े जहान में
महफिलें सजी बहारों की
चहुओर चहलपहल रहती
उदासी कोसों दूर दीखती | 


विशेष लेबल वाली सभी पोस्ट्स ....
नोज जैसवाल

आज की पोस्ट में मैं आपको जानकारी दूँगा कि आप एक ही बार में अपनी विशेष लेबल वाली सभी ब्लॉगर पोस्ट्स को एक साथ किसी अन्य लेबल से कैसे बदले, ब्लॉगर ब्लॉग में लेबल का बेहद महत्वपूर्ण योगदान रहता ..........




देवभूमि के देवदूत और विनाशलीला के लुटेरे

सरिता भाटिया

उतराखंड पर जो कहर बरपा है उसकी दास्ताँ थमने का नाम नहीं ले रही हैं | 10 दिन बाद भी समझ नहीं आ रहा कोई कैसे अपनों तक पहुंचे कैसे उनकी तलाश करे ?कौन कब एक देवदूत बन उनकी सहायता को आ जाए और कौन रास्ते में ही सब लूट ले



यूँ ही बेसबब न फिरा करो
दर्शन 




यूँ ही बे-सबब न फिरा करो, कोई शाम घर में भी रहा करो
वो ग़ज़ल की सच्ची किताब है, उसे चुपके-चुपके पढ़ा करो



यादें...

रंजना वर्मा 

अपनों की याद में वक़्त बे वक्त बरसती आखें .....
अपनों को देखने वक़्त बे वक्त तरसती आखें ......




ज़िंदा लेते लूट, लाश ने जान बचाई

आदरणीय रविकर जी की


कुंडलियाँ


खानापूरी हो चुकी, गई रसद की खेप ।
खेप गए नेता सकल, बेशर्मी भी झेंप ।
बेशर्मी भी झेंप, उचक्कों की बन आई ।
ज़िंदा लेते लूट, लाश ने जान बचाई ।

अजवाइन से कुछ रोगों का उपचार ...

पूर्णिमा दुबे 
अजवायन (Thyme) एक झाड़ीनुमा वनस्पति है जो मसाला एवं औषधि के रूप में प्रयुक्त होती है।
                अजवायन के बहुत से गुण हैं। इसे अपने साथ यात्रा में भी रखा जा सकता है। इसका प्रयोग रोगों के अनुसार कई प्रकार से होता है .........

प्रेम शब्द, जिसमे जादू है ....

सुमन जी 
अनेक शब्द,
लोक-व्यवहार
के चलते
भले ही अपने
अर्थ, उपयोगिता

                        =====================================
उतराखंड में आयी प्राकृतिक आपदा में मारे गये उन तमाम लोगो को सादर श्रधान्जली,उनके परिजनों को ईश्वर दुःख से उबरने का हौसला दें।

इसी के साथ मुझे इजाजत दीजिये मिलते हैं अगले गुरुवार को कुछ नये लिनक्स के साथ - शुभ विदा  

11 comments:

  1. बढ़िया लगा आज का अंक |कई लिंक्स हैं पढ़ने के लिए |
    मेरी रचना शामिल करने के लिए आभार |
    आशा

    ReplyDelete
  2. बहुत ही ख़ूबसूरत लिंक्स संजोये है , बहुत बधाई ।

    ReplyDelete
  3. आदरणीय राजेंद्र भाई जी बहुत ही सुन्दर लिंक्स संयोजन लाजवाब प्रसारण हार्दिक आभार आपका.

    ReplyDelete
  4. अच्छे सूत्रों से सजा प्रसारण !!

    ReplyDelete
  5. बहुत ही ख़ूबसूरत लिंक्स संजोये लाजवाब प्रसारण ... मेरी रचना शामिल करने के लिए बहुत-बहुत धन्यवाद

    ReplyDelete
  6. बहुत बहुत आभार राजेन्द्र जी,
    मेरी रचना को शामिल करने के लिए !

    ReplyDelete
  7. सुन्दर लिंक्स,अच्छे सूत्रों से सजा प्रसारण राजेंद्र जी,मेरी रचना शामिल करने के लिए हार्दिक आभार।

    ReplyDelete
  8. बहुत ही ख़ूबसूरत लिंक्स ...धन्यवाद

    ReplyDelete
  9. बहुत ही सुन्दर लिंक्स संयोजन,,,बधाई

    ReplyDelete
  10. माफ़ करियेगा मुझे ब्लॉग प्रसारण के बारे में अभी पता चला.... मेरे पोस्ट को शामिल करने के लिए धन्यवाद !!

    ReplyDelete
  11. मेरे पोस्ट को शामिल करने के लिए धन्यवाद !!

    ReplyDelete