ब्लॉग प्रसारण पर आप सभी का हार्दिक स्वागत है !!!!

वैसे तो इस तरह के तमाम ब्लॉग उपलब्ध हैं जिनमें से कुछ काफी प्रसिद्ध हैं. इस ब्लॉग को शुरू करने का हमारा उद्देश्य कम फोलोवर्स से जूझ रहे ब्लॉग्स का प्रचार करना एवं वे लोग जो ब्लॉग बनाना चाहते हैं परन्तु अज्ञान वश बना नहीं पाते या फिर अपने ब्लॉग का रूप, रंग ढंग नहीं बदल पाते उनकी समस्या का समाधान करना भी है. परन्तु यदि नए ब्लॉग नवीनीकरण (अर्थात update ) नहीं होंगे उनके लिंक नहीं लगाये जायेंगे उनकी जगह अन्य लिनक्स को स्थान दिया जायेगा. साथ ही साथ प्रतिदिन एक या दो विशेष रचना "विशेष रचना कोना' पर प्रस्तुत की जायेंगी और "परिचय कोना" पर परिचय भी दिया जायेगा. ब्लॉग में किसी भी तरह की समस्या को इस पते पर लिख भेजें : blogprasaran@gmail.com समाधान हेतु यथासंभव प्रयास किया जायेगा....

नोट : सभी ब्लॉग प्रसारण कर्ता मित्रों से अनुरोध है कि वे अपने पसंद के सीमित लिंक्स अर्थात अधिकतम (10-15) ही लिंक्स लगायें ताकि सभी लिंक्स पर पहुंचा जा सके.


मित्र - मंडली

पृष्ठ

ब्लॉग प्रसारण परिवार में आप सभी का ह्रदयतल से स्वागत एवं अभिनन्दन


Friday, May 31, 2013

उद्गार

सभी मित्रों को नमस्कार!

साहित्य के अथाह सागर में से कुछ मोती चुनकर लाना अत्यन्त दुष्कर कार्य है। समझ नहीं आता किसे चुनें और किसे छोड़ें। इस बार मैं अपने पसंद के कुछ नए पुराने  लिंक्स लेकर आपके सामने हाजिर हुआ हूं। देखिए, इनमें आपको कितने पसंद आते हैं।

-------------------------------------------------------------------

Annapurna Bajpai 

आकंठ डूबे हुये हो क्यों, 
अज्ञान तिमिर गहराता है। 
ये तेरा ये मेरा क्यों , 
दिन ढलता जाता है। 
-------------------------------------------------------------------

जवाहर 
--------------------------------------------------------------------

रश्मि शर्मा 

उदासी की सातवीं किस्‍त * * * * 
लगातार तनाव और उदासी से यूं लग रहा है जैसे रक्‍त-शि‍राएं फट पडेंगी.....इतनी बेचैनी...इतनी उदासी.......
--------------------------------------------------------------------


Arun Kumar Nigam
--------------------------------------------------------------------

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक 

गैस सिलेण्डर कितना प्यारा। 
मम्मी की आँखों का तारा।।
--------------------------------------------------------------------

Vijay Nikore
-------------------------------------------------------------------

Vandana Tiwari

संवेदना के शुष्क तरु सानिध्य में,
पुष्प प्रीति के, 
ढूंढे जा रहे हैं आज। 
-------------------------------------------------------------------

 सौरभ 
--------------------------------------------------------------------

Kailash Sharma

जो भी मिला जीवन में 
चढ़ाये था एक मुखौटा अपने चेहरे पर, 
हो गया मज़बूर मैं भी 
--------------------------------------------------------------------

बशीर बद्र...:  

 कोई काँटा चुभा नहीं होता 
दिल अगर फूल सा नहीं होता 
कुछ तो मजबूरियाँ रही होंगी 
यूँ कोई बेवफ़ा नहीं होता 
----------------------------------------------------------------



तो अब आज्ञा दीजिए................
नमस्कार!



19 comments:

  1. सुन्दर संकलन रचनाओं का.

    ReplyDelete
    Replies
    1. आदरणीय निहार जी आपका हार्दिक आभार!

      Delete
  2. शुभ प्रभात बृजेश भाई
    सही में अच्छे व रुचि परक लिंक्स दिये आपने
    सादर

    ReplyDelete
    Replies
    1. आपका हार्दिक आभार यशोदा बहन!

      Delete
  3. आदरणीय ब्रिजेश जी बहुत ही सुंदर सूत्र पिरोने के लिए हार्दिक बधाई अभी कुछ ही लिंक्स तक जा पाई हूँ
    जल्दी ही सब तक पहुँचने की कोशिश है
    आभार

    ReplyDelete
    Replies
    1. आदरणीया सरिता जी आपका बहुत आभार!

      Delete
  4. सभी मित्रों को शुभप्रभात आदरणीय बृजेश भाई जी बहुत ही सुन्दर प्यारे लिंक्स के साथ सुन्दर प्रस्तुतिकरण हार्दिक आभार आपका.

    ReplyDelete
    Replies
    1. अरून भाई आपका हार्दिक आभार!

      Delete
  5. सुन्दर संकलन

    ReplyDelete
    Replies
    1. आपका हार्दिक आभार!

      Delete
  6. @ गैस सिलिंडर है वरदान...सुंदर सीख देता हुआ मोहक गीत...

    काजल का टीका लगा,नज़र नहीं लग जाय
    भागवान आ शीघ्र तू ,मन सबका ललचाय
    मन सबका ललचाय ,देख कर इसकी लाली
    आयेगी ना नींद , करत इसकी रखवाली
    बिना सिलिंडर रंग , रसोई- घर का फीका
    नज़र नहीं लग जाय,लगा काजल का टीका

    ReplyDelete
  7. सुन्दर संकलन

    ReplyDelete
    Replies
    1. आपका हार्दिक आभार!

      Delete
  8. @ अज्ञान तिमिर....

    रचना में जीवन-दर्शन का गूढ़ समाहित है. आदरेया, बधाई.....

    ReplyDelete
  9. सभी लिंक्स एक से बढ़कर एक
    बहुत बढिया

    ReplyDelete
    Replies
    1. आपका हार्दिक आभार!

      Delete
  10. बहुत रोचक लिंक्स...आभार

    ReplyDelete